Rebirth of human soul Hindi रिबर्थ ऑफ ह्यूमन सोल

Hare krishna radhe krishna

The birth of soul (hindi)

Soul कैसे धरती पर आते है ? कैसे mother से connect होते है ? मां के गर्भ में कैसे प्रवेश करते हैं? कौनसी energy forcefully उनको धरती पर नीचे खींच के लाती हैं ?

ये सब गहराई की बाते सिर्फ एक आध्यात्मिक के राह पर चलनेवले साधक ही बता सकते है। ब्रह्मांड की साकारात्मक उर्जा का क्या महत्व है? उर्जा क्या होती हैं? ये कैसे कार्य करती हैं?

ये साधना की गहराई में उतर कर ही जाना जा सकता है। इसमें जो मै आपको बताने जा रही हूं ये मेरा स्वयं का प्राप्त किया गया ध्यान से लिया गया ज्ञान है।

इस पृथ्वी पर जन्म लेने के लिए एक soul कैसे मां के गर्भ में प्रवेश करते हैं ये जानते है। हम में से अधिकतर लोग यही जानते है और यही मानते है कि नौ महीने पूरा होने के बाद जब कोइ शिशु जन्म लेते हैं तो उनका जीवन शुरू होता हैं ।

जबकि हकीकत ये है कि शिशु का जीवन तो मां के गर्भ में पहले दिन से ही शुरु हो जाता हैं। जीवन के प्रारंभ के साथ ही उसके आंतरिक और बाहरी शरीर की संरचना शुरू हो जाती हैं।

how to invite pure soul in hindi

यदि आप चाहते हैं आपकी पसंद का pure या spiritual Soul positive Soul या ऐसा soul जो धरती पर आपके द्वारा जन्म लेकर इस पृथ्वी पर रहने वाले मानव जाति को सच्चाई का मार्ग दिखाए आध्यात्मिक रास्ते पर चलना सिखाए आध्यात्मिक उन्नति का मार्ग प्रशस्त करें।

इस तरह के positive energy वाले soul को फिर आप को invite करना होगा।

सबसे पहले ये समझते कि कैसे कोई भी soul इस पृथ्वी पर जन्म लेने के लिए आते है। जब male and female के sperm and ovum unite होते है तो एक shell तैयार हो जाता हैं।

कहने का मतलब एक जगह बन जाती हैं एक soul को रहने के लिए। सबसे पहले shell तैयार होने जरूरी हैं तभी वह जन्म लेने के लिए soul को एक निश्चिंतता मिलती हैं कि हम पृथ्वी पर जन्म लेने के लिए अब उतर सकते है।

फिर उस shell में उस आत्मा पर शरीर का आवरण बनना शुरू हो जाती हैं। तभी ही वह शिशु जन्म लेने के लिए तैयार हो पाता है।

How soul run towards earth in hindi

जैसे ही एक shell तैयार हो जाता है तुरंत ही एक flash light निकलती हैं

ये flash light उपर universe की ओर जाती हैं। एकदम फास्ट इतनी स्पीड कि उस फ़्लैश लाइट की तीव्र गति का कोई अंदाजा भी नहीं लगा सकता है।

universe में पहले से ही कई soul जन्म लेने के लिए इंतज़ार कर रहे होते। इसी इंतज़ार मे कभी हमें इस flashlight के द्वारा संदेश मिले हम पुनर्जन्म के लिए चल पड़े।

जो soul तैयार रहते हैं जन्म लेने को उन्हें ये flashlight का वाइब्रेशन और जन्म लेने वाले soul का वाइब्रेशन मैच हो जाता हैं तो वे तुरंत धरती की ओर रवाना होते है जन्म लेने के लिए।

The birth of more than one soul

In hindi

कभी कभी तो क्या होता हैं एक soul से अधिक soul मा के गर्भ में प्रवेश करते हैं । ये तो आपने भी सुना होगा जुड़वा बच्चे या दो से अधिक बच्चे भी एक साथ जन्म लेते हुए।

ऐसे में ये होता हैं कि वह फ़्लैश लाइट जो तीव्र गति से धरती से यूनिवर्स की ओर आयी थी वह फ़्लैश लाइट के वाइब्रेशन इन सभी soul के वाइब्रेशन से मैच हो जाते है। वे सभी इकट्ठे पृथ्वी की ओर रवाना होते और एक ही मां के गर्भ में एक साथ प्रवेश कर जाते हैं।

वाइब्रेशन कनेक्ट होते से मां के गर्भ में प्रवेश से पहले जन्म लेने वाले soul के vibration मा के रीढ़ की हड्डी से स्पाइन के नीचे से दूसरी या तीसरी हड्डी से कनेक्ट होते है इस तरह spine से कनेक्ट होकर मां के गर्भ में प्रवेश कर लेते है।

soul karmic accounts connection in hindi

ऐसे तो हो नहीं सकता कोई भी soul किसी भी मां के गर्भ से जन्म लेकर कोई भी घर में प्रवेश कर ले। किस प्रकार के फिर आपके यहां जन्म लेंगे जिनका आपके साथ karmic accounts connection हैं वहीं आयेगे।

जिनका आपके साथ बहुत गहरे प्रकार का कर्म का लेन देन बाकी है। या जिनके साथ आपने पहले भी कई बार जन्म ले चुके हो। ये सब वही soul रहते बल्कि हम भी कोई ना कोइ soul ग्रुप से संबंध रखते वहीं वहीं soul हर जन्म में कोइ ना कोइ रिश्तों में बंधकर कनेक्ट होते हैं।

जिनका karmic accounts बहुत स्ट्रॉन्ग है और लेन देन का बहुत कुछ हो आपस मे तो वह हमारे बहुत नज़दीक के रिश्तों में बंधकर मिलते है।

जिनके साथ प्यार या soulmate जैसे प्यारा सा बंधन में हो तो वह हमारे प्यार के रूप में मिलते। पर यही सब soul रहते जो एक दूसरे से हर जन्म में टकराते रहते है।

जो हमारे घर मे जन्म लेते हैं उनके karmic accounts पूरे करने या खत्म करने के यूनिवर्स की एनर्जी forcefully नीचे खींच के भी लाती हैं यदि कोइ soul जन्म लेने के तैयार नही होते हैं जो।

Biological connection with parents in hindi

जो precious Soul होते हैं वह माता पिता का चुनाव खुद करते वे ये खुद तय करते अपनी इच्छा अनुसार कि उन्हें किसे माता पिता चुनना है और किनके घर जन्म लेना है। हर जीवात्मा का जन्म लेने के पीछे उसका खुदका एक मिशन होता हैं।

कर्मो का हिसाब चुकता करना लेना देना पूर्ण करना । कुछ मानव जाति के उन्नति का कार्य ऐसे सब मिशन को पूरा करने के उदेश्य से ऐसी पवित्र आत्मा पुनर्जन्म लेती हैं। पृथ्वी पर ऐसे जीवात्मा जिन्हें माता पिता का चुनाव करने के बाद उन्हें ही माध्यम बनाकर पुन: जन्म लेने से वे बायोलॉजिकल पैरेंट्स कहलाते है।

यदि दिल से श्रद्धा पॉजिटिव तरीके से रोज प्राथना की जाए एक ही वाक्य नित्य दोहराते रहें इससे वह जीवात्मा के साथ एक tunning स्थापित होने से वह ऊर्जा से पृथ्वी पर जन्म लेने के लिए तैयार होने लगते है।

निश्चित समय पर जन्म लेकर इस दुनिया के भलाई करने का मिशन समय आने पर पूर्ण भी कर लेते है।

Conclusion

How to invite your favourite Soul

यदि आप चाहते हैं कि आपके यहां कोइ पवित्र soul जन्म ले तो सबसे पहले आपको भी पवित्र होकर तैयार होना होगा।

यदि आप चाहते हो आध्यात्मिक soul जन्म ले तो आपको भी स्वयं आध्यात्मिक की ऊंचाई तो नही पर कुछ तो आध्यात्मिक अंश आप में भी होना चाहिए। आपने सुना होगा कि एक ही परिवार के सभी सदस्य के स्वभाव भी मिलते जुलते rehte क्युकी उनके नेचर मिलते है वे कई जन्म साथ में रहते आए है।

अब आप चाहते एक शुद्ध पवित्र और अच्छा soul जन्म ले तो उसको भी practically invitation रोज यूनिवर्स में भेजना पड़ता है यदि interested हो सीखना चाहते हो मुझे मेल करिए, यदि 50 लोगो ने भी मेल से request kiya to मै invite कैसे करें वीडियो upload करूंगी।

धन्यवाद, ॐ नमः शिवाय

Mantra jaap से होते हैं चमत्कारी फायदे, मंत्र जाप करते समय जरुर रखे इन बातो का ध्यान Method Of Healing Water 💦

मंत्र जाप के चमत्कारी फायदे

मंत्र से अनेक रोगों का नाश होता है। जटिल रोग को बहुत दिनो तक लगातार non stop मंत्रोच्चारण ठीक करने की क्षमता रखता है।

मंत्र जाप से हृदय शुद्ध हों सकता है।

मंत्र जापसे भ्रम और अज्ञानता को दूर कर सकते है।

मंत्र जाप करते रहने से मन के भीतर का भय समाप्त होकर मन को निडर और मजबूत बना सकता है।

मंत्र जाप अशांत मन को शांत कर असीम शांति का अनुभव करा सकता है।

मंत्र जाप हमारे पिछले जन्म के सारे पापो को भस्म कर पापो से मुक्ति दिलाता है।

मंत्र जाप से सोई हुई कुंडलिनी शक्ति भी जागृत हो सकती हैं ।

मंत्रजाप से सिद्धि भी प्राप्त की जा सकती हैं।

मंत्र जाप से इष्ट देवता भी प्रकट हो सकते है।

मंत्र जाप से जन्म मरण के चक्र से भी मुक्ति मिल सकती हैं।

मंत्र जाप का फल

जब कोई भी साधक मंत्र जाप करते है तो एक सकारात्मक ऊर्जा शक्ति प्रवाहित होने लगती हैं। मन भी बाहर की बातो में भटकता नही है।

मन एकाग्रचित होकर ध्यान पूरा मंत्र पर स्थापित हो जाता हैं। शारिरिक, मानसिक, आत्मिक तौर पर साधक में एक पवित्रता आने लगती हैं।

आत्मशक्ति बलवान और आत्मा की उन्नति दिन प्रतिदिन साधक की साधना जैसे जैसे बढ़ने लगती हैं वैसे वैसे आत्मा में पवित्रता आना शुरू हो सकती हैं।

साधक के आत्मा उन्नति तो होती ही हैं साथ ही साधक के संपूर्ण परिवार भी लाभान्वित होने लगते है। जाप मंत्र ध्यान से एक ऊर्जा शक्ति का निर्माण होता हैं साधक के अंदर से वह ऊर्जा शक्ति निरंतर प्रवाहित होती रहती हैं।

पूरे घर में वह सकारात्मक ऊर्जा विस्थापित होती रहती हैं, घर का कोई बीमार सदस्य भी इस ऊर्जा से ठीक हो सकता है। यदि साधक साधना की सर्वोच्च ऊंचाई तक पहुंच चुका है तो यह सब संभव है।

हाँ मंत्र जपने से साधक के जीवन में बहुत सी चमत्कारिक घटनाएं जरूरत पड़ने पर होती रहती है।

मंत्रो के जाप का प्रभाव साधक के व्यक्तित्व में भी झलकता है। Aura clean and pure होने से purity से साधक में एक प्रकार की शुद्धता और सौम्यता नजर आती है।

जितना समय और ऊर्जा आप मंत्रो को देंगे उतना प्रतिफल मिलेगा ही मिलेगा ईश्वर हमें उदारता पूर्वक स्वीकारता हैं बस इसमे मंत्रो की जप संख्या का विशेष प्रभाव होता है आप मंत्रों की संख्या जितना अधिक से अधिक जाप में रखेंगे उतना ही मंत्र शक्तिशाली होता है और ईश्वर की उदारता भी।

उस देवी या देवता जिसके मंत्रो का आप जाप करते है उसकी कृपा आपके ऊपर धीरे धीरे असर करने लगेगी। आपको हर वक्त उनका protection महसूस भी हो सकता है।

साधक के चेहरे पर, उसके मस्तक पर धीरे धीरे विशेष प्रकार का आकर्षण देखने को मिलने लगता है और साधक की वाणी में धीरे धीरे सरस्वती का वास होने लगता है साधक के मुँह से निकली बातें सत्य होने लगती हैं ऐसा प्रभाव देखा गया है।

मंत्र जपते वक्त इन बातो का भी ध्यान रखें

एक ही मंत्र जाप लगातार एक ही माला से करने से मंत्र सिद्ध हो सकता है। वही माला इस्तमाल करते वक्त टूट जाए तो दोबारा से उसे 108 मणि को एक माला में पिरोकर उपयोग कर सकते हैं।

ये कोई अशुभ संकेत नहीं है जैसे कई लोग घबराकर मुझसे पूछते है बल्कि ये शुभ संकेत है। बल्कि माला के द्वारा आपकी negativity absorbed हुई है।

पहले दिन आपने मंत्र जाप की माला अधिक कर ली फिर कुछ दिनों में समय के अभाव में माला कम कर दी या बंद कर दी ऐसा मत करिए। आप नित्य प्रतिदिन कर सकते है तो ही शुरू करिए और एक माला कर सकते है तो एक का ही नियम रखिए। यदि आपकी शक्ति सद्भावना है तो ज्यादा भी करिए पर पहले बढ़ाकर घटाना ना पड़े इस बात का ध्यान रखिए।

एक समय पर कितने मंत्र जाप करें यह हर एक साधक के श्रद्धा समर्पण भाव पर निर्भर है। कई लोगो को ये शंका होती हैं कि इतना ही गिनती का करे या ना करें ऐसा कुछ नहीं है आपकी श्रद्धा और आस्था शक्ति अनुसार कर सकते है।

हां यदि कोई आपने कोई मंत्र जाप पूर्ण करने की मन्नत ली है तो उतना आप जरुर पूर्ण करे। कई बार कई लोग मन्नत तो ले लेते है पर कार्य पूर्ण होने के बाद मन्नत को पूरी करना ही भूल जाते है। फिर जीवन में विघ्न और कठिनाइयां क्यों आ रही है नहि समझ पाते और जीवन में इधर उधर भटकते रहते।

कई लोगो ने मुझ से पूछा भी है कि रुद्राक्ष माला से मंत्र जाप करते उसे धारण कर या नही, तो आप बेहिचक निः संदेह धारण कर सकते है। बल्कि मंत्र जाप की शक्ति निरंतर आप के साथ ही रहेंगी।

मंत्र जाप करते समय जरुर रखे इन बातो का ध्यान तभी मिलेगा जाप का पूरा फल

अलग अलग मंत्र जाप करने के लिए अलग अलग माला का उपयोग किया जाता है इसके पीछे भी ऋषि मुनि द्वारा बताए कुछ कारण हैं कि अलग अलग माला से मंत्रोचारण करने से साधक को साधना का उचित फल भी मिलता है और हर माला का प्रभाव भी एक दूसरे से भिन्न है।

जैसे शिवजी, गणेशजी, पार्वती मां के मंत्रो उच्चारण के लिए रुद्राक्ष की माला, विष्णु भगवान, श्री कृष्ण और सूर्य देव के मंत्रो के लिए तुलसी की माला और माता लक्ष्मी, गायत्री मां के लिए कमल गट्टे की माला साथ ही साथ अन्य मंत्रो के लिए स्फटिक की माला। शास्त्रों के अनुसार सभी मंत्रो के लिए रुद्राक्ष स्फटिक की माला भी इस्तेमाल की जा सकती हैं।

सर्वप्रथम ईश्वर की आराधना के पहले शरीर का स्वच्छ होना भी जरूरी इसलिए स्नान करके धोए हुए साफ सुथरे वस्त्र धारण करें।

कभी भी माला को खुला रखकर जाप करते हैं तो जप से निर्मित सारी positive energy वायु मंडल में विस्मृत हो जाती है जो कि साधक की मेहनत waste हो सकती हैं इसलिए माला को गोमुखी या कपड़े से ढककर ही जपना चाहिए।

मंत्रजप करते वक्त मंत्र का उच्चारण मन ही मन करने से साधक को सौ प्रतिशत फल मिल सकता है वहीं जोर जोर से मंत्र बोलते हुए माला करने से प्रतिफल अपूर्ण ही मिल सकता है।

कभी भी मंत्र जाप या आराधना ईश्वर की बिस्तर पर बैठकर नहीं करना चाहिए जमीन पर ही साफ सुथरी जगह पर ही बैठना चाहिए। हो सके तो बैठने का भी कोई निश्चित स्थान बना ले।

आपको आसन जमीन पर ही रखकर बैठना है। इस बात को अवश्य ध्यान दे कि संपूर्ण शरीर पैर भी आसन पर ही हो, आसन के बाहर ना हो।

परिवार में हर सदस्य का आसन अलग अलग होना चाहिए

ना कि हर कोई ईश्वर की आराधना करने के लिए एक ही आसन का इस्तेमाल करे।

यदि सभी सदस्य ईश्वर की आराधना के लिए एक ही आसन का इस्तेमाल करते है तो ऊर्जा शक्ति एक दूसरे की आपस में टकराती हैं जो कि घर में लड़ाई झगड़े का कारण भी बन सकती हैं।

मंत्र जाप के पहले जमीन पर आसन बीछाकर आसन को नमन करे सुखासन, पद्मासन, अर्धपदमसं जिसमे भी कंफर्टेबल फील हो बैठ सकते है।

पर एक बात का ध्यान रखें की आसन को पैरों से आगे पीछे नहीं हटाए जो कि कई लोगो कि आदत होती हैं। जिस आसन पर बैठकर इश्वर से connect होते है उसे पैरो से आगे पीछे नहि करना चाहिए।

मंत्र जाप साधना करते वक्त मेरुदंड सीधा रखकर बैठे किसी दीवार या किसी चीज को सहारा बनाकर ना बैठे। पीछे रीढ़ की हड्डी से ही ऊर्जा शक्ति निमार्ण होती हैं और universe से connection बन पाता है साधक का टेढ़ा मेढा बैठने से ऊर्जा शक्ति desturb हो सकती हैं।

मंत्र जाप के वक्त तर्जनी और छोटी उंगली आपस मे टकरानी नही चाहिए ना हि नाखून माला से छू रहे ये भी ध्यान रखें।

माला करते वक्त आंखो को बंद रखे। ताकि बाहर की दुनिया से संबंध विच्छेद हो।

पूरा ध्यान मंत्र जाप करते हुए मंत्रो पर ध्यान लगाए ना किसी से भी बात करें ना किसी की कोई बात का जवाब दे।

वह मंत्र जाप का समय अपनी आत्मा की उन्नति के लिए रखें ताकि आप उचित फल प्राप्त होने से वंचित ना हो सके।

मंत्र जाप की शक्ति healing water 💦

Healing water 💦

कैसे बनाए जिससे आपके परिवार को और आपको इस जल का फायदा मिल सकता है। मंत्र जाप करने से पहले एक कांच के ग्लास में पानी भर कर सामने रख ले। फिर माला जप शुरू करे, जपते वक्त जो भी ऊर्जा निर्मित होगी वह पानी के ग्लास में अवशोषित होती रहेंगी। माला जप पूरी होने के बाद माला को उस जल में पांच मिनट के लिए डाल कर रख ले।

पांच मिनट बाद उस जल से mala निकाल लीजिए, आपका healing water तैयार हो गया है। अब इस पवित्र जल को सारे परिवार को पीने दीजिए और थोड़ा जल पूरे घर मे छीढक दीजिए। पूरे घर की, सभी परिवार के सदस्यों की हीलिंग हो गई वह भी पवित्रता के साथ। घर से नकारात्मक ऊर्जा भी बाहर निकल गई साथ ही सकारात्मक ऊर्जा शक्ति का भी संचार हो गया।

Conclusion

मंत्रजाप द्वारा आपको अधिक से अधिक कैसे उचित फल की प्राप्ति हो सके साथ ही साथ सही तरीका क्या हैं ये भी बताया हैं। साधना करते वक्त क्या और कौनसी गलतियां ना करने से कैसे हम सही राह पर चलकर ईश्वर के करीब पहुंच सकते है और हमारी life में positivity भी create हो सकती है। ये सब जानकारी मेरी आध्यात्मिक राह पर चलने से मिली है आपको कैसे लगी और आपके लिए उपयोगी है तो जरुर comments करके share भी करे।

🙏🙏🙏🙏धन्यवाद

जय श्री कृष्ण

ॐ नमः शिवाय

जानिए, स्फटिक के श्रीं यन्त्र का महत्त्व घर दुकान में स्थापित करने जा रहे हैं तो जान ले ये बातें

हरे कृष्ण राधे कृष्ण

स्फटिक जो एक सकारात्मक ऊर्जा का स्त्रोत माना जाता है। इसे डायमंड का विकल्प भी माना जाता है। स्फटिक के विभिन्न नाम है जैसे कांचमनी, बिलर, बर्फ का पत्थर या रॉक क्रिस्टल।

स्फटिक में एक अलग ही प्रकार की transparency होती हैं। स्फटिक बर्फ की पहाड़ियों से मिलने वाला रत्न है इसे शीत वीर्य रत्न माना जाता है।

ये सब जो हम आपको जानकारी दे रहे हैं, ये आपको fully charge करके आपके ही नाम पर तैयार करके वह भी special beej Mantra se ऊर्जा प्रवाहित कर आपकी समस्याएं है उसके अनुसार आपको अभिमंत्रित करके दिया जायेगा।

स्फटिक में तो पहले से सकारात्मक ऊर्जा तो है ही साथ ही हमारे मंत्रो द्वारा अभिमंत्रित करने से इसकी ऊर्जा शक्ति कई गुना बढ़ कर और ज्यादा प्रवाहित होने से ये आपकी मुश्किल को आसान और जीवन को और खुशहाली से भर देगा।

स्फटिक श्रीयंत्र महत्व

स्फटिक श्रीयंत्र थ्री डी के आकर में हैं, इस यंत्र मे गजब की हीलिंग पावर है। It’s have a capacity to heal fully mind body and soul.

हमारे आस पास अदृश्य नकारात्मक ऊर्जा प्रवाहित होती है जिसका प्रभाव हमारे जीवन पर सीधा पड़ता है। जीवन में संतुलन एवम सफलता पाने में रुकावट होती हैं।

कभी कभी जीवन की कोई कठिन समस्या को सुलझाना मुश्किल हो जाता हैं। बीना कोई logical reason के घर में समस्या बढ़ने लगे तो घर के मंदिर में श्रीयंत्र की स्थापना कर सकते हैं।

मंदिर में स्थापित करने के बाद ये घर की नकारात्मकता को दूर कर सकरत्मक ऊर्जा शक्ति से भर देता है।

कोई भी व्यक्ति जो अपने घर या कार्यालय के पूजा स्थान में स्थापित होता है, जीवन में कभी भी धन की कमी नहीं होती है।

सफलता मिलने में भी मददगार साबित हो सकता है। यदि बच्चे पढ़ने में कमजोर हैं तो या पढ़ने में मन नहीं लगता हो तो बच्चो के कमरे में भी स्थापित कर सकते हैं। ताकि उसकी पॉजिटिव एनर्जी बच्चो के मनन पठन करने में मदद मिलेगी पढ़ने में ध्यान भी लग सकता है।

स्फटिक शिवलिंग

स्फटिक शिवलिंग में इसमें अद्भुत हीलिंग क्षमता है। इसमें भगवन शिव और माता पार्वती दोनों का वास है। चाहे आप घर में रखिए या ऑफिस ये हर जगह सुरक्षा कवच का काम करता हैं।

evil eye 👁️ या कोई भी नकारात्मक घटनाएं का असर हमारे जीवन पर प्रभाव होने नही देता। स्फटिक crystal को शिवलिंग का आकार देने से इसका ऊर्जा में और वृद्धि हो जाती हैं।

स्फटिक शिवलिंग की स्थापना जहा कहीं भी होती हैं वहां पर रहने वाले लोगों की aura cleansing अप्नेआप hi होना शुरु हो जाती हैं। वहां रहने वाले लोग सकारात्मक ऊर्जा से ओत प्रोत हो सकते हैं।

स्फटिक शंख

इसमें माता लक्ष्मी का वास है ऐसा माना जाता है। इसे यदि लॉकर में रखा जाए तो आपको कभी भी धन दौलत की अपने जीवन में महसूस नही हो सकती हैं। इस शंख में दो खूबियां है।

ये catalysts and conductor दोनो का ही काम करता है। इसे सकारात्मक ऊर्जा का पॉवर हाउस भी कह सकते हैं

स्फटिक कछुआ श्रीयंत्र

ये श्रीयंत्र कछुए की पीठ पर स्थापित किया गया है। कछुआ जो एक खुद बहुत ही शक्तिशाली प्राणी है। कछुए की उम्र भी लम्बी होती हैं। ये जल और जमीन दोनों पर रह सकता है। कछुए की एक बहुत ही बेहतरीन क्वालिटी हैं, कछुआ कभी किसी को परेशान नही करता।

ये एक बहुत ही शांतिप्रिय जीव हैं। इसका सीधा मतलब यही है की इसकी स्थापना से हमारे जीवन में भी संतुलन और शांति आ सकतीं है। ये बहुत ही highly powerful श्रीयंत्र है। किसी के सर पर बहुत कर्ज चढ़ चुका है।

पहला उतरा नही की दूसरा कर्ज सिर पर चढ़ जाता हो ऐसी परिस्थिति में इसकी स्थापना आपको राहत दिला सकती हैं। काम बहुत धीमी गति से या रुक रुक कर चलता हो। मेहनत का उचित फल प्राप्त नही हो तो ये श्रीयंत्र आपकी मदद कर सकता है। इसमें powerful vibration होते है जो आपकी समस्या से निजात दिला सकता है।

उपरोक्त सभी उपाय श्रीयंत्र के आपको जरूर फलित होंगे तब ही जब साथ में आप आपके कर्म सच्ची निष्ठा से, बड़ी शिद्दत और मेहनत लगन से पूरा करेंगे।

धन्यवाद ॐ नमः शिवाय

Black Tourmaline Healing Properties And Uses

Hare krishna, radhe krishna

Black tourmaline crystal benefits

Black tourmaline crystal has been used since ancient times by shamans and healers for protection.It is only one powerful crystal that protect and heal all levels.In a all sense like physical emotional mental and spiritual.It is a strong spiritual grounding stone.Black tourmaline crystal is a powerful for protection against negative energy and negative entities.

It’shave many healing properties black tourmaline have a great ability to remove negative energy with in a person and space.

Black Tourmaline crystal uses

Black tourmaline cleanse purify and transform negative energy into positive energy.It balances harmonizes and protects all chakras it works with root chakra to ground us.This is because your root chakra is the base of the rest of our chakras. This crystal is ideal for those that challenging in work places. Black tourmaline acts to protect an individual energy field against entity’s, attachment and devil’s 😈.We could also say that black tourmaline is a negative energy black hole pulling negative energy from you and your surroundings and clearing all that disharmony.

Black tourmaline uses in our own

Etheric purification is another use of black tourmaline putting in pillow case. While going outside you can keep in your pocket, 👜 purse or bag and carry anywhere you go it’s give you protection in all ways. Also when we meditate we can hold it in our hands to go in deep meditative state. It also provide cleansing for the auric feild and all dimensions of Etheric body. If one is not grounded and not in tune with the planetary energy at that time these shifting occurred. Increase stress in such situations black tourmaline hold in our hands to pull out lower stagnant stressful energy out of your system to purify and clear dull energy into energetic powerful energy.

Keep Black tourmaline crystal in front of entry door it will not allow negativity or black energy to entry in your home. IT protect you whole family members entire house and Keep you always safe. You might say it’s your protector forever.

Black tourmaline crystal energy

Thank you very much

ॐ नमः शिवाय

A Beginner’s Guide To The 7 Chakras + How To Unblock Them

Hare Krishna Radhe Krishna 🙏

Seven chakras fact

As our body is made of five elements so automatically by birth we are connected by Nature.

Whenever we go against by Nature we face many problems. Seven chakras colours is directly connected with rainbow 🌈.

Rainbow colours and our chakras colours are similar. If we follow nature’s rule we live happily a healthy life,but as we break 💔 rules of nature we face 😈 so many problems.

We desturbed ourselves by our emotions by health wise physically we face many disease mentally also we desturbed by our emotions.

As like a rainbow we can also make our life like a rainbow colourful and enjoyable.

Root chakra details

The colour of this chakra is 🍒♥️red symbolic of this chakra is heat 🔥 fire and anger. Red is stimulating and energizing colour.

The Chakras colour is Red . The colour of Shakti and Shakti is for energy. Energy for movement, development, working mentally physically even for spiritual awakening and meditation means for all purpose.

Root chakra or muladhar chakra is situated at the base of spine. We can say that it’s a storage of our all Karma’s. Whatever done by soul good or bad all karmas of each and every birth is stored in this particular chakra.

It is linked to our sub conscious mind where all experience and actions with soul basic nature is already there. According to karmic law our future and our destiny all is related to this muladhar chakra.

You can also say that it is a personality development chakra.

If this chakra is blocked we suffer diseases like low BP, rheumatism, paralysis, anaemia.

How to Unblock root chakra

Wear clothes which is red in colour or place the things in or around your house which is red in colour.

Do exercises or yoga connected to the ground or you can do standing in standing postures also.

You can do daily walk means long walking distance atleast one hour or more than that ohh 😮 no know not slow little bit fast.

This chakra is also related to family also so try to maintain good relationship with family members and it’s help you to balance your chakra.

Eat food for this is mostly red in colour 😋 such as beet, radish, red cabbage, 🍅 tomato, cherry 🍒, red berries, onion, water melons, red chilli etc.

Sacral chakra (svadhisthana)

The colour of this chakra is orange 🍊. symbolic of this chakra is prosperity. Stimulating blood supply and energizing nerves which is beneficial in dialasis, kidney issues, gall stones, appendix.

Sacral chakra is situated four fingers downward to naval . Where muladhar is storehouse of karmas swadishtan chakra is activation in karmas means bring clarity and development of personality.

How to unblock sacral chakra

Wear orange colour clothes or place orange colour things in or around the house.

This chakra is related to creativity or art work try to keep busy yourself in any creative work you like.

Try to keep healthy realtions and in any situation can’t keep healthy realtions than just leave with easy calm and quietly.

Meditate on sacral chakra just focus your concentration on that particular chakra and imagine orange colour on that chakra.

Food we can eat for this chakra to cure is orange 🍊, carrot orange 🥕, apricot, mango 🥭, peach and 🍑 papaya.

Manipur Chakra details

Manipur chakra is situated behind the naval.

Colour of this chakra is yellow 💛which is associated with joy 😹 and happiness. The element of this chakra is fire that’s it is also known as sun center.

It controls our energy and balance the energy and balance to strengthen and consolidate our health.

Strong and healthy Manipur Chakra greatly support good health and if any kind of illness may it cure soon.

Stimulating to brain 🧠 and liver.

Effective in treatment of diabetes, indigestion, constipation, 👀 eye and throat infection.

How to Unblock Manipur chakra

Eat natural yellow colour food in your daily routine like 🍋 lemon, sweet lime, grapes, pumpkins, melon, banana 🍌, mango, gauva.

Practice bhastrika or kapalbhatti pranayam regularly.

Wear or place thing’s in and around your house.

Practice regularly like bhujangaasaan sarpasan, naukaasan.

The heart Chakra or anahat chakra

It is the place of our atma or we may also say that our divine soul.

This chakra is reated to love emotions attractions and our feelings all. This chakra is having capability to fullfill your all wishes and desires just concentrate in the center of your heart and just imagine whatever you want by closing eyes feel that all is happening. Also while doing this send message to your mind also that already you got it and this way you can complete your all wishes.

❤️ Heart chakra or anahat chakra colour is 💚. Green colour is regarded as colour of harmony and it’s useful in treatment for 🥵ulcers, 🦟 malaria, colds 🥶, cancer.

How to Unblock heart Chakra

Eat natural green colour food and always try to connect with nature just visit to mountains or garden which are close to your house walk daily and spend your morning evening time by doing this also your heart chakra will be strengthened by positive energy.

Concentrate on heart Chakra and practice to meditate daily.

Wear green colour or use green colour things in your day to day life.

Food also play important roles and helps to open this chakra by eating green colour food for this we can eat green vegetables like gourds, spinach, lettuce 🥬, peas, green mango, beans etc.

Vishuddha chakra

This chakra is situated in throat or you can also called as breathing chakra because it’s function for prana while breathing its remove all toxicity of our body.

Purification while breathing is not only physical level but also on mentally and spiritual level also.

Throat chakra is blocked due to when person feel fear or someone is dominating or want to speak your voice are ignored by others or they say so loudly that the person forcely keep quite in such situation throat chakra blocked and convert into Disease related to throat such as thyroid etc.

Colour of this chakra is 🔵 Blue or sky blue and it’s useful in treatment of dysentery, colic, asthama, high blood pressure.

How to Unblock vishuddhi Chakra

Eat natural food colour which is blue or wear clothes which is in blue colour.

Food for this we can eat blue plum, blue beans, blue 🍇 etc.

If you are dominating by other’s feeling lonely than go to mountain place or place where no one is there just shout very loudly tell whatever in your mind and empty your all agression.

This method also help you to clear your vishuddhi Chakra.

seven chakras

Third eye chakra ajna

It is located between our two eye brows. You can also say as power house of mind because it is storage of our memory or even we can recall our old memories also.

It is also called as third eye chakra and it is a meeting centre of our three main supreme nadis that is Ida, pingla and sushumna Nadi.

The colour of this chakra is Indigo. It’s an excellent stimulant without being an irritants. It is beneficial in treatment of cataract, migrane, excess tiredness, skin disorders.

How to Unblock third eye chakra

We can eat food which is natural colour like blue berries, indigo cauliflower etc.

wearing or using thing’s which is colour in indigo.

Practice pranayam regularly like Nadi shodhan or balance your breath by doing surya Nadi and Chandra Nadi (All details I have already written in my another blog surya Nadi and Chandra Nadi you can read to know all details)

Crown chakra

This chakra is located at the top of the head and it is also called Brahmnand means door of God which opens for our humanbeings for**Moksha**

By going in deep meditation this chakra opens and soul connect to brahmand. Reaches to the end of Soul journey that is Brahm means mukti from taking birth again’and again free from all Karma’s that is Moksha.

Colour of this chakra is violet .

How to Unblock Crown chakra

Eat natural food which is natural colour in violet or also in white.

You can chant Om ॐ regularly before meditation or while doing any work you can chant internally Om continuously and this also beneficial for any bhakt to open crown chakra.

Wear or eat food which is violet in colours. Food we can eat like egg plant, black berries.

Besides this anyone who want to open his own all seven chakras can open with the help of charging crystal or some spefic mantras which is invented by me to open all chakras or with the help of some breathing techniques at the some extent it’s help you to open Chakras. (different types of breathing techniques).

Did you like my Blog it’s my own experience written, please comment.

Thanks 👍 for reading

Harekrishna Radhe krishna

Om namah shivay 🙏🙏

Thanks om namah shivaya

मेरी आप बिती, सच्ची बात

हरे कृष्ण

जीवात्मा की सच्चाई,

😘 जिन्दगी के सफरनामे पर हर जीवात्मा को अपने अपने सफर तय करने निकल पड़ती हैं। जन्म लेते ही एक शिशु का पूर्णता से संपूर्णता की यात्रा शुरू हो जाती हैं। हर जीवात्मा अपने कर्मो के लेने देने के चक्रव्यूह से खुद को मुक्त कराने के लिए जन्म लेती रहती हैं। इस पृथ्वी पर जन्म लेते ही शुरू हो जाता हैं कर्मो का हिसाब। यदि जीवात्मा अच्छे कर्म पूर्व मे हुए तो वह सुख को अनुभव करती हैं, बुरे कर्म हुए तो दुख का अनुभव करती हैं। ईश्वर ने हमें फ्री व्हील दिया है हर जीवात्मा खुद की इच्छा अनुसार खुद के निर्णय ले सकती हैं। यदि किसी जीवात्मा को जन्म मरण के चक्रव्यूह से मुक्त होना है मोक्ष मार्ग पर चलना है तो आध्यात्मिक रास्ते पर चलना ही एकमात्र विकल्प हैं। ध्यान साधना के सन्मार्ग पर चलकर जीवात्मा को अपने हर कर्म से निवृत्ति मिल सकती हैं। प्रकृति कभी भी माप तौल कर अपने नियम पर ही चलती हैं। प्रकृति का नियम जो कुछ भी लिया है उसे वापिस लौटना ही है। जो जीवात्मा नही लौटना चाहती खुद के लिए ही लेने देने के कर्मो का पहाड़ खड़ा कर खुद को ही कर्मो के बोझ तले दबा डालती हैं। हम एक दूसरे को जरूर माफ कर देंगे, पर प्रकृति कभी माफ नहीं करती किसी को भी। जन्म मरण का यह साइकल बीना रुके चलता ही रहता है और जीवात्मा उस में ही फसकर तड़पती रहती। इसीलिए ध्यान साधना की गहराई में डूबकर , ध्यान के भवसागर में तैरकर ईश्वर के शरण में जाकर खुद को समर्पित करना ही ही हर जीवात्मा के लिए सबसे अच्छा तरीका है।

मेरी आप बीती
जब इंसान को कोई भी मुसीबत आती हैं तो हर मनुष्य ये नही समझ पाता की यह मुसीबत क्यों आई है। तकलीफों परेशानियों को झेल कर स्वयं को ही शक्तिहीन, लाचार समझकर उदास हो जाता और भी कोशिश करना ही छोड़ देता है। चाहे वह शारीरिक रोग हो या कुछ भी हो। मैने भी ऐसा ही अनुभव किया मेरे जीवन में, एक ऐसे मोड़ पर। मैं हर्षा खंडेलवाल मैं भी नियमपूर्वक नित्य प्राणायाम, ध्यान बड़ी तल्लीनता से करती थी। ऐसा करते करते मेरी कुण्डलिनी शक्ति जो सुप्त अवस्था में थी, वह जागृत हो गई। जैसे ही कुंडलिनी जागृत मेरे शरीर में लगातर कंपन रहती थी, चौबीस घंटे पेट के दोनों तरफ एक असहनीय दर्द होता रहता था।
: बड़े बड़े डॉक्टर्स, स्पेशलिस्ट को भी दिखा दिया, एलोपैथी, आयुर्वेदिक सभी दवाई आजमाकर देख ली। बाहर भी कई गुरु से संपर्क किया, स्पिरिचुअल सेंटर्स पर भी गई इस उम्मीद से की कोई किसी के पास कुछ तो उपाय पता चले। पर कही भी संतोषजनक कुछ नहीं मिला। बाहर भटकने के बाद जब मैं अपनी अंतरात्मा के भीतर झांका तो मैने पाया एक विराट miraculous मैजिकल वर्ल्ड जिसे शब्दों में बयां करना नामुमकिन है। अंतर्मन की यात्रा शुरू की तो रुकने का नाम ही नहीं लिया, आध्यात्मिकता मे तो पहले से अवतरित तो थी पर हमारी भीतर इतने पवित्र उज्वल अमूल्य धरोहर है ये मुझे पता चला। मुझे मेरे दर्द का परेशानी का समाधान मेरे अंतर्मन की यात्रा करने पर मिला, हर प्रकार की मुक्ति का रास्ता। यहां हम ईश्वर को समर्पित हुए उधर ईश्वर ने हमें भी स्वीकार किया। सब कुछ ठीक होता गया, उच्च से अच्छाई का समय और महत्व पता चला।

जानिये क्या कहती है आपकी आंखे आंखों के रंगो से जानें कैसा है आपका व्यवहार

हरे कृष्ण राधे कृष्ण

आंखे मनुष्य के दिल का आईना है, जो जुबान नही कह पाती वह आंखे कह देती हैं। इस पृथ्वी पर हर मनुष्य की आंखो का रंग अलग अलग है। हर आंखो का रंग कुछ ना कुछ बयान करता हैं। क्या बयां कर के क्या इशारा करते हैं ये रंग जानते है।

ये काली काली आंखे

आपको सच का पता है, काली आंखे वाले लोग इस दुनिया में बहुत कम हैं। बहुत कम लोग काली आंखे वाले दिखाई देंगे आपको। ये लोग बहुत ही emotional होते है,secret रखने वाले लोग होते है। ये अपनी सारी बातें मन ही मन में दबा कर रखते है। जल्दी किसी से भी कोई भी बात share नहीं करते।

ये जल्दी किसी पर विश्वास भी नहीं करते। लेकिन इन में एक खूबी है, ये जिसे भी अपनात हैं दिल से अपनाते हैं। उसकी अच्छाईयों के साथ उसकी खामियों को भी दिल से लगाते हैं। ये किसी को भी अपना दोस्त बनाते हैं तो उसे बड़ी शिद्दत से दिल से जीवन के अंतिम पड़ाव तक दोस्ती निभाते हैं।

उसे तन मन से पूरी तरह स्वीकार करते हैं और वक्त आने पर खुद की जान देने के लिए भी पीछे नहीं हटते। ये बड़े ही आशावादी दृष्टिकोण के लोग होते है। निराशा के ढेर में भी आशा की किरण खोज अपना मार्ग निकाल विजयी होने का सतत प्रयास करते हैं।

हरी आंखे की हरियाली

हिरणी जैसी हरी आंखे दुनिया में हर किसीको पसंद है। इनके रिश्तों में भावुकता बहुत होती हैं जिसके कारण भावुकता वश ये कई बार गलत फैसले भी ले लेते हैं अपने जीवन के। ये रिश्तों में भावुक होने के कारण ये किसी भी हद तक जाकर रिश्ता निभाने की कोशिश करते है।

पर जहां तक हो सके रिश्तों को टूटने से बचाने की पूरी कोशिश करते हैं। ये दोस्ती निभाने में माहिर होते है। साथ ही इनका स्वभाव बहुत ही हसमुख किस्म का होता हैं। ये दोस्तो की महफ़िल में दोस्तो को हंसा हंसा कर लोटपोट कर देते है। इतनी कॉमेडियन हरकते करते हैं और ऐसे ऐसे जोक्स चुटकुले सुनाते है कि सभी दोस्त हंस हंस कर पागल हो जाए। ये जो भी महफ़िल में शामिल हो वहा हंसी के फव्वारे छूटते ही रहते हैं।

इनका जिन्दगी को देखने का नजरिया ही अलग होता हैं। ये जीवन के हर पल को खुशनुमा होकर जीना पसंद करते है। इन में एक बात की कमी भी हैं ये ईर्ष्यालु स्वभाव के होते है। ईर्ष्या में कभी कभी कोई ग़लत हरकते भी कर जाते है फिर स्वयं ही शर्मिंदगी भी महसूस करते है।

नीली नीली आंखें

नीली आंखों वाले की बात ही अलग होती हैं। ये दिखने में सुंदर, दिमाग से स्मार्ट दयालु स्वभाव के और हमेशा दूसरे की मदद करने वाले होते है। ये दिखते कुछ है और होते कुछ है। ये आकर्षित और दोस्ती निभाने वाले दिखते तो हैं पर असलियत में होते नही है।

इनका nature diplomatic होता हैं। ये disciplined, मीठी आवाज वाले, दयालु हमेशा खुशमिजाजी में जीने वाले होते है। इनके कई रंग देखने मिलते हैं क्युकी इनके एक नही कई character होते है।

भुरी आंखो का भुरापन

भुरी आंखो वाले लोगो की संख्या इस दुनिया में बहुत है। इनका स्वभाव दुनिया में सबसे विश्वसनीय और अच्छा होता हैं। ये जिन्दगी को जिंदादिली से जीने वाले लोग होते है। ये हर किसी से मिलनसार स्वभाव के होते हैं और हर किसी के साथ कुछ ही पलों में मिक्स होकर सामनेवाले को अपना बना लेते है।

ये जिंदादिल मदमस्त जीवन व्यतीत करना पसंद करते है। इन्हे बाहर की दुनिया में दोस्तो के साथ रहना ज्यादा पसंद है। दोस्ती निभाने के लिए धन दौलत खर्च करने में भी लापरवाही बरतते हैं पर दोस्ती निभाने में और दोस्त बनाने में ज्यादा विश्वास करते है। ये attractive और confident रहते हुए जीवन के हर पहलू को जीते हैं।

स्लेटी आंखे

स्लेटी स्लेटी आंखे वाले शांतिपूर्ण जीवन जीने वाले होते है। इनका दिमाग बहुत तेज होता हैं। इन्हे एकाकी जीवन जीना पसंद है। ये अकेले अपनेआप में ही रहते है। ये ईमानदार और वफादार होते हैं। ये सादगी से जीवन व्यतीत करते हैं, इनके विचार धारा भी शुद्ध और सादगीपूर्ण होती हैं। इनकी आत्मशक्ति बलवान होने के साथ साथ ये आध्यात्मिक उन्नति भी अच्छी कर सकते है। उच्च विचारों के साथ ये excellent leader भी होते हैं।

बहुत बहुत धन्यवाद ॐ नमः शिवाय।

Master connection presence and blessings

MASTERS PRESENCE AND THERE POWERS Sometimes masters manifest their presence in ways that anyone can see you can ask your masters to appear as proof of your masters contact . Few commomn sighns.

**CLOUDS ———— you may saw your masters face in cloud formations especially sacred sites or sometimes you will see clouds that resemblence like feathers or wings OR YOU may also saw your masters face made in naturally front of you it come suddenly and gone away.

WORDS —————————Often after you ask presence of your masters you will hear the word or someone will say the word to you in unlikely way.

CRYSTALS———————Masters can suddenly appears in your crystals .They show you different sighns through crystals .

By

regularly doing meditation holding crystal in your hands masters show changes what is happening in you by subconscious mind or conscious mind If you talk with them daily day by day you become close to him.

***MESSAGES—————-First masters give us sighns so that we will know that they and their messages are real first they confirm you their presence by sending messages .

Sighns can be anthing that you can see or hear in this physical world three or more times or several times or receive in a very in a very unusual way Many people report smelling perfume flowers or any natural pleasent smell when their masters are nearby.

***LIGHTS———————–When you see sparkling lights you are seeing the friction or energy of masters moving across the room Its a little light like seeing sparks fly from a fast moving car or thunders in clouds.

NUMBERS—————-Another way in which they speak to us by showing us number sequences you see the same number repeatedly ..This is not co– incidence but a message from above and this numbers is just precise

Self help technique

POWERFUL SELF HELP TECHNIQUE                              This is an easy and interesting technique through which we can make the positivity of acheiving our goals by creating thought process and sending  message to universe Create your good intentions connect with cosmic energy of universe and remove hurdles of life send message directly to your sub conscious mind The special mantras of each chakras gives you more strength to your inner soul and outer body See the changes of your life and changes in yourself ——————————————————————————————————————————————————–MEDITATION WITH MUSIC                                Meditation is misunderstood by many people as closing ones eyes and sitting quiet .But in true meaning meditation is the process of knowing our own self We always search for outer world but we do not know that our inner world is bigger than outer world IN this we recognize this inner world inside us by meditating with some soft pleasent music——————————————————————————————————————————————————–HAND TO HAND TOUCH                             After completing al learning we end the session by solving your problems where I   sit in front of you and answer a few questions by hand to hand touch .,Many people have taken good experiences and learnings with them Some found its to change their attitude towards helpful living life Many people are happy that atleast there is some place where they get at last some solutions —————————————————————————————————————————————-SIGNATURE GUIDANCE                          Some guidence also given by me on signature to how to progress in your life and by making very little changes in your signature its changes your life 

All The Candles Secrets You Need To Know To Create A Blissful Ambience

                                   

 Candle Magical Magic

                ***Candle magic is greatly desired assosiated with the fire element Candles chatter and the direction of the flame denote magical communication.                            

  *** They speak a magical language the words being expressed by the fliekering and dancing of the candle flame the billowing of the smoke and the popping of the hot wax. 

                           ***This teaches a simple yet successful way in burning candles and candle magic. Your candle magic can be very ceremonial or very simple. Sometimes the simpler the better.

                         ***Alot of people burn candles just about every night. They burn a candle in honour of goddess. Just burning a candle too puts you in right frame of mind.  

                        ***When doing magic there is always good and bad that comes with it. When you are doing ritual think positive that it will work. 

                           ***When doing a candle magic leave oprning  for GODS to let them make decision.

Also give certain amount of time for it to happen also remember sometimes you just might not get your wish and it might not be because you failed in your magic . Sometimes you might be success its depends. 

                                               However when your magic does work or not do not forget to thank the Gods . Also feel that feeling of how it feels when something  great happensand put that same feeling in another candle magic that you do.   

                             READ HOW TO DO MAGICAL CANDLE                        MORE———————————–MORE ——————————————MORE—————————————-          

 Different Colours Of Candles Doing Different Rituals                  

It is very important in candle rituals. Color has subtleinfluences and each one vibrates at a different frequency.

                                          BLACK ———- Used for protection, to repell negativity.iT IS ALSO g  good for stopping gossip, keeping interfering people out of your life, or breaking bad habbits.                               

BLUE————-Promotes calmness and tranquity and also offers protection. Lighter paler blues are good for pleasent dreams and to releive anxiety and confusion .   

                               BROWN ————–Used to aid in healing animals , and for protecting the home. Its also used for grounding and centering if you are overenergized, and is linked to common sense and stability. 

                         COPPER ———————-Represents carrer success and growth.

                                   GOLD———————–A color representing god ,and is used to help with financial matters and security.   

                          GREEN————————-Symbolizes physical healing growth , and abundance. It also represents the Earth Mother and fertility. And its help to find logic and releive stress .

                        ORANGE ———————-Luck and success in businesss and other matters, as well as justice and strength.   

                          PINK———————— It works well with romance ., emotional healing ,,self love , and promotes nuturing and peace. also helpful with sympathy, empathy. 

                                PURPLE———————When worn it help you to gain respect , spirituality, hidden knowledge , and is representative of the element AKASHA.                             

  RED————Its works good when used in efforts with love, lust or sexual desire, passion, physical strength and energy, Its also representative of the element of fire.   

                               SILVER—————-In candle colors it usually represents the GODDESS, and it also helps with inner peace and serenity. 

                                   WHITE————————-Used for protection , truth, clarity, and spiritual  guidence , as well as a substitute for any other color. White is the culmiation of all colors.   

                                  YELLOW———————–It represents the sun,and is used to help with memory, communications, imagination, intelligence and  success. It is also representative of the element of Air.                 

    DAYS ARE ALSO IMPORTANT FOR DOING CANDLE RITUALS

                SUNDAY———————Ruled by  the sun . its the proper day of the week to perform spells and rituals involoving banishing evil, exorcism, healing and prosperity. COLORS———–orangr, white, yellow.   

                   MONDAY————-Ruled by the moon .is the proper day of the week to perform  spells and rituals involving purification .,protection , peace the goddess, female fertility ,messages, reconcillation, theft, and voyages,. COLORS—— silver, white grey.


                             TUESDAY———-Ruled by mars is the proper day of weekto perform spells and rituals involving courage, energy, physical health, stimulation, banishing negativity, revenge, courage, surgery          COLORS————-red, orange.   

                                     WEDNESDAY————–Ruled by mercury is the proper day of the week to perform spells and rituals involving communication, divination, writing knowledge, wisdom, study and business transaction ‘. COLORS—————-yellow, grey purple.

                              THURSDAY——————Ruled by jupiter is the proper day of the week to perform spells and rituals involving luck , wealth, happiness, health, legal matters, male fertility, healing animals and agriculcutre ,.COLORS————–blue brown .

                             FRIDAY——————–Ruled by venus is the proper day of the week to perform spells, and rituals involving, love, romance , beauty, sex, marriage, friendship, and partnerships.

COLOR—————–pink 

                      SATURDAY——————-Ruled by saturn is the proper day of the week to perform spells and rituals involving spirit communication, meditation, locating lost things, or missing persons and change.COLORS——————black, blur, grey , purple. 

Conclusion

It’s a magic Miracles of candles in a positve ways to create positivity in your life. There is not any purpose to harm anyone. It’s help you to dissolve your issue.

Thank you very much 🙏

jai shri krishna

%d bloggers like this: